Mahatma Gandhi ka Jivan Parichay- Gandhi Ji Ki Kahani

आज हम Mahatma gandhi ka Jivan parichay ke बारे में बात करेंगे जिन्हे लोग बापू के नाम से जानते है |

दोस्तों महात्मा गाँधी जी का जन्म 2 अक्टूबर सन् 1869 को हुआ |

उनका पूरा नाम मोहन दस करम चंद्र गाँधी था बोहोत ही दयालु इंसान थे | उनके पिता का नाम करमचंद्र और माता का नाम पुतलीबाई था |

वो हमेशा अहिंसा पर विश्वास रखते है आज की जनरेशन को उनके कदम पर चलना चाहिये उन्होंने देश की आजादी में बोहोत भूमिका निभाई |

Mahatma gandhi ka Jivan parichay

Mahatma Gandhi ka Jivan Parichay

महात्मा गाँधी जी बोहोत ही सच्चे इंसान थे उनकी कस्तूरबा गांधी से शादी हुई थी 1882 में |

उनका  वैवाहिक जीवन बोहोत अच्छे से गुजरा | उनके चार बेटे थे | गाँधी जी के 3 बन्दर थे बुरा मत देखो, बुरा न बोलो, बुरा न सुनो

उन्होंने अपना सारा जीवन देश को समर्पित कर दिया तभी उन्हें बोहोत याद किया जाता है |

Gandhiji ne desh ke liye kya kiya

गाँधी जी ने देश को आजादी दिलाने के लिए बोहुत कुछ करा अंग्रेज़ो का जब देश में कब्ज़ा था |

उन्होंने भारत छोड़ो का नारा दिया उनकी अंग्रेज़ो के खिलाफ बोहुत लम्बी लड़ाई चली |

एक बार उन्होंने दांडी यात्रा की सुरुवात की थी अंग्रेज़ो के खिलाफ और उस यात्रा में हज़ारो लोगो ने हिस्सा लिया था |

क्युकी अंग्रेज़ो ने कानून पास किया था की समंद्र में अगर नमक बनाओगे तो वो कानून को तोडने जैसा होगा | और ये जो अत्याचार अँग्रेज़ कर रहे थे |

गाँधी जी को ये बिलकुल भी पसंद नहीं था | तो वो हमेशा अपनी आवाज गलत के खिलाफ उठाते रहे |

Mahatma gandhi ji ki mrityu kab hui

महात्मा गाँधी जी की मृत्यु नाथूराम गोडसे ने की थी 30 जनवरी, 1948 में नाथूराम ने गाँधी जी पर गोली चलायी |

मुंह से उनके ‘हे राम‘ निकला और दुनिया  से चले गए उनकी मौत के बाद सबको दुःख हुआ |

क्युकी वो एक अच्छे इंसान थे जिन्होंने देश को आजाद करने के लिए अपना सब कुछ त्याग दिया था |

Final words

दोस्तों हमे उम्मीद है आपको Mahatma gandhi ka Jivan parichay अच्छा लगा होगा |

और आप बोहोत मोटीवेट हुए होंगे उनसे उनकी सचाई को देखकर बाकि आप इस आर्टिकल को शेयर जरूर करे |

mahatma gandhi ji ka nibandh | महात्मा गांधी जी की पूरी कहानी | mahatma gandhi essay in hindi | mahatma gandhi essay

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Post