Hathi Aur Darji ki kahani ( 2022 )- दर्जी और हाथी की कहानी

Hathi Aur Darji ki kahani ( 2022 )- दर्जी और हाथी की कहानी post thumbnail image

Hathi Aur Darji ki kahani की शुरुआत कुछ इस तरह से है | एक बार एक दर्जी की दुकान पर एक हाथी रोज आया करता था | दर्जी बोहोत अच्छा इंसान और दयालु था उस हाथी को कुछ न कुछ खाने को देता था |

हाथी भी बोहोत मजे से दरजी की दिए हुआ खाता था | दरजी को हाथी का आना पसंद था | और वो उस हाथी से बोहोत प्यार करता था | हाथी भी उस दरजी को खिलाने के बदले रोज घुमाने ले जाया करता था |

Hathi Aur Darji ki kahani

Hathi Aur Darji ki kahani

एक दिन दर्जी को कही बहार काम से जाना था | तो ऐसे में उसका दुकान पर बैठना पॉसिबल नहीं था | उसने अपने बेटे से दुकान पर बैठने को कहा | दरजी का बेटा बोहोत ज्यादा शरारती था | अबकी बार भी हाथी रोज की तरह उस दरजी की दुकान पर आया | और उसके बेटे ने हाथी के साथ बोहोत गलत किआ | उसने हाथी को कुछ खिलाने की जगह उसकी सूँड में सुई को चुबा दी | हाथी ने सोचा नहीं होगा की उसके साथ ऐसा कुछ होगा |

वो चुपचाप वहा से तालाब की और चला गया और वहा से अपनी सूँड में गन्दा पानी भरकर फिर से दर्जी की दुकान पर सबक सीखने के लिए चला गया | लड़के ने जैसे ही हाथी को अपनी और आते देखा और सोचा की अबकी बार हाथी की सूँड में फिर से सुई को चुबा देंगे | हाथी जैसे ही दुकान पर पंहुचा |

उसने अपनी सूँड से गन्दा पानी फेक दिया| और उस लड़के के और उसकी दुकान पर रखे हुए सारे कपड़े गंदे होगये | अब लड़के ने जो हाथी के साथ किआ था उसका उसको बोहोत दुःख हुआ |

मोरल : हमे जानवरो से बोहोत प्यार करना चाहिये |

Hathi Aur Darji ki kahani | hathi aur darji ki kahani ki shiksha| दर्जी और हाथी की कहानी | hathi aur darji ki kahani hindi mein

Other Article

Chanakya Niti Quotes In Hindi

Imaandar lakadhara ki kahani

Ache sanskar in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Post